आज होंगे ठा. बांकेबिहारी के अद्भुत दर्शन

0
139
वृंदावन स्थित विंश्व प्रसिद्ध मंदिर ठाकुर बांकबिहारी।


मथुरा। शरद उत्सव के दिन देश दुनिया से लाखों श्रद्धालु ठा. बांकेबिहारी के दर्शन को आएंगे। हालांकि मंदिर प्रबंधन अभी आनलाइन बुकिग व्यवस्था के जरिए दर्शन की व्यवस्था लागू कर रखी है। साल का यह एकमात्र आयोजन है जब ठाकुर जी जगमोहन में बांसुरी धारण करते हैं। मंदिर के प्रबंधक मुनीश कुमार शर्मा बताते हैं कि इस रात की धवल चांदनी ठाकुर जी की चरण वंदना करती हैं। इसके लिए मंदिर की छत को खोल दिया जाता है। दिन और रात की आरती का समय भी एक-एक घंटा अतिरिक्त रहेगा। राजभोग आरती दोपहर एक बजे होगी तो रात में 10.30 बजे शयन आरती की जाएगी। मान्यता है कि शरद पूर्णिमा की धवल चांदनी में भगवान श्रीकृष्ण ने महारास किया था।  अगर, इस बार भी श्रद्धालुओं ने वृंदावन में डेरा डाला तो पुलिस और मंदिर प्रबंधन के लिए बड़ी चुनौती साबित होगा।
 मान्यता है इस दिन भगवान श्रीकृष्ण ने वंशीवट पर गोपियों संग महारास किया था। बांकेबिहारी महारास की मुद्रा में अपने भक्तों को दर्शन देते हैं। इस विलक्षण पल का साक्षी बनने को देश दुनिया से लाखों श्रद्धालु शरद पूर्णिमा पर वृंदावन आते हैं और आराध्य के दर्शन कर पंचकोसीय परिक्रमा करते हैं। लेकिन इसबार मंदिर में कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन हो रहा है और आनलाइन पंजीकरण से श्रद्धालुओं को प्रवेश मिल रहा है, तो ऐसे में श्रद्धालुओं की भीड़ को दर्शन संभव होना और व्यवस्थाएं तथा नियमों का पालन करवाना मंदिर प्रबंधन और पुलिस दोनों के लिए चुनौती साबित होगा।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here