बीआईएस को लेकर जूता उद्यमियों को मिली बड़ी राहत

केंद्रीय मंत्री ने नई दिल्ली में जूता उद्यमियों और संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ की बैठक

उद्यमियों के सुझावों को मानते हुए अहम् बिन्दुओं पर बनी सहमति

आगरा। भारतीय मानक ब्यरो बीआईएस को लेकर जूता उद्यमियों को बड़ी राहत मिली है। आज नई दिल्ली में केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री मंत्री पियूष गोयल ने जूता उद्यमियों और संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर उद्यमियों की कई महत्वूर्ण मांगों को स्वीकार करने पर सहमति जताते हुए महत्वपूर्ण घोषणा की हैं। केंद्रीय मंत्री पियूष गोयल ने अपने सम्बोधन में कई बातें स्पष्ट की हैं।

केंद्रीय मंत्री ने पियूष गोयल कहा

आगरा में सरकार द्वारा टेस्टिंग के लिए 15 लैब स्थापित होंगीं
• प्रत्येक कारखाने के लिए केवल एक लाइसेंस की आवश्यकता होगी
• फैक्ट्री के लिए निजी अथवा आंतरिक प्रयोगशाला की अनिवार्यता नहीं होगी।
• सूक्ष्म एवं लघु परीक्षणों पर क्रमशः 80 एवं 50 प्रतिशत सब्सिडी प्रदान की जाएगी
• अधिकारियों द्वारा फैक्ट्री स्वामियों का किसी भी प्रकार से उत्पीड़न नहीं होगा।

उद्यमियों ने किया फैसले का स्वागत

नई दिल्ली में आयोजित बैठक में शामिल हुए एफएएफएम के अध्यक्ष कुलदीप कोहली ने केंद्रीय मंत्री के फैसले को जूता इंडस्ट्री के लिए बड़ी राहत बताते हुए कहा कि सरकार के फैसले का हम स्वागत करते हैं आज मंत्री महोदय ने हमारी तमाम आशंकाओं से हमें आशक्त किया है। मंत्री जी के आज के संवाद से इस बात की भी पूरी संभावना जागी है कि फैशन फुटवियर को बीआईएस के दायरे से बाहर रखा जाएगा। बैठक में केंद्रीय मंत्री के साथ डिपार्टमेंट फॉर प्रमोशन ऑफ़ इंडस्ट्री एंड इंटरनल ट्रेड के एडिशनल सेक्रेटरी आईएएस राजीव ठाकुर सहित कई प्रमुख अधिकारी भी शामिल हुए।

आगरा के उद्यमियों का प्रतिनिधित्व एफएएफएम-फ्रेटर्निटी ऑफ़ आगरा फुटवियर मैन्यूफैक्चर्स के अध्यक्ष कुलदीप कोहली, संयुक्त सचिव समीर ढ़ींगरा, नकुल मनचंदा। भीम युवा व्यापार मंडल के अध्यक्ष गजेंद्र सिंह पिप्पल, अस्मा के अध्यक्ष ओपिंदर लवली, जितेंद्र त्रिलोकानी आदि ने किया।

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *