Agra news: दो दिवसीय द्वितीय इंटरनेशनल बायर-सैलर सम्मेलन का हुआ का समापन

Faizan Khan
5 Min Read

यूपी देश का ह्रदय प्रदेश , यूपी से ही जाते हैं पूरे देश के रास्ते…. सूर्य प्रताप शाही

10 देशों के 40 से अधिक खरीदारों ने सम्मेलन में की भागीदारी

आगरा। रविवार को वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम के सहयोग से द्वितीय इंटरनेशनल बायर-सैलर मीट एवं प्रदर्शनी के दूसरे दिन के आयोजन का शुभारंभ मुख्य अतिथि . उद्यान मंत्री दिनेश प्रताप सिंह तथा कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही द्वारा, विधायक डॉ. धर्मपाल , मनोज कुमार सिंह , कृषि उत्पादन आयुक्त,अतुल कुमार सिंह, निदेशक उद्यान, अंजनी कुमार सिंह, डायरेक्टर मंडी बोर्ड तथा अंजनी कुमार श्रीवास्तव, मैनेजिंग डायरेक्टर यूपी स्टेट हॉर्टिकल्चरल कॉपरेटिव मार्केटिंग फेडरेशन की गरिमामय उपस्थिति में दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया।

सम्मेलन को संबोधित करते हुए दिनेश प्रताप सिंह , मंत्री उद्यान,कृषि विपणन, कृषि विदेश व्यापार तथा कृषि निर्यात उत्तर प्रदेश सरकार ने बताया कि जब हम संगठित होते हैं, मिलते हैं तो हमारी ताकत बढ़ती है इसी प्रकार इस सम्मेलन का उद्देश्य भी यही है कि हम सब मिलकर उद्यान व कृषि के विभिन्न क्षेत्र में काम करें। उन्होंने बताया कि देश की माटी के साथ देश- प्रदेश का स्वास्थ्य, कृषि व अर्थव्यवस्था का स्वास्थ्य कैसा हो, इसी संकल्प के साथ हम सब यहां जुटे हैं, इस मीट का संकल्प, इसकी बात यहां उपस्थित 400 किसानों तक ही नहीं चार सौ करोड़ तक पहुंचे, हर गांव गली के किसान तक पहुंचे। मंत्री ने सूचना तकनीकी में आई क्रांति की बात बताते हुए कहा कि पहले चिट्ठी इसका माध्यम थी लेकिन आज मिनटों में हम अपने लोगों के संपर्क में आ जाते हैं इसी प्रकार की क्रांति अभी कृषि-उद्यान क्षेत्र में नहीं आई है लेकिन बहुत जल्द वह दिन आएगा जब किसान अपने उत्पाद को मिनटों में विश्व के बाजार में ले जा सकेगा। हमारा प्रयास जारी है जब गुणवत्तापरक उत्पाद हम विश्व बाजार में अच्छी मूल्य पर दे सकेंगे।

See also  सिर कटी महिला की लाश मिली, मची सनसनी

वही मुख्य अतिथि सूर्य प्रताप शाही. मंत्री कृषि, कृषि शिक्षा एवं कृषि अनुसंधान विभाग ने संबोधित करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश को एक ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी बनाए जाने के लिए इंटरनेशनल मीट को एक अच्छा प्रयास बताते हुए कहा कि पीएम मोदी द्वारा निर्धारित लक्ष्य में अपना उत्तर प्रदेश प्रथम स्थान पर रहे मुख्यमंत्री योगी जी का ऐसा प्रयास है इस हेतु ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट के साथ इंटरनेशनल बायर सेलर मीट का ये द्वितीय आयोजन है दोनों एक ही लक्ष्य की पूर्ति के लिए हैं। कृषि मंत्री ने कहा कि मीट के दोनों सत्रों को सुनकर मेरी भी जानकारी बढ़ी है, यूपी कृषि प्रधान प्रदेश है यहां उत्पादक किसान, खरीदार तथा इन दोनो के क्रियान्वयन कराने वाले अधिकारी भी उपस्थित हैं हम सबकी मिली जुली जिम्मेदारी है इसे आगे बढ़ाएं।उन्होंने बताया कि 245 लाख मीट्रिक टन आलू उत्पादन होता है 02 हजार कोल्ड स्टोरेज में 1.65 लाख मीट्रिक टन भंडारण होता है शेष को हम खाने तथा बीज में प्रयोग करते हैं 100 से 125 लाख मीट्रिक टन सरप्लस उत्पादन हमारे पास रहता है यदि अच्छे बीज से गुणवत्तापूर्ण उत्पादन किया जाए तथा विश्व बाजार में पहुंचाया तो आलू की फसल में भारी संभावना है विश्व में भारत को सर्वोपरि बनाने के लिए हमें ये करना होगा। उन्होंने बुलंदशहर के सिकंदराबाद के दो किसानों की सफलता का उदाहरण देकर बताया कि गाजर उत्पादन वहां इतना है कि वहां से बाजार की कीमत तय होती है। जनपद मैनपुरी में मूंगफली की खेती हेतु बहुत संभावनाएं हैं,इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार किया जा रहा है,जेवर एयरपोर्ट बन जाने से यहां का एक्सपोर्ट बढ़ेगा। यूपी देश का ह्रदय प्रदेश है, सड़क हों या केंद्र की सरकार सारे देश के रास्ते यहीं से जाते हैं, स्वर्णिम चतुर्भुज झांसी में मिलता है ।इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार कर मोदी योगी जी ने दूरियां कम की हैं कुछ लोग दूरियां बढ़ाना चाहते हैं। उन्होंने किसानों से सब्सिडी बाली 30 हजार सोलर पंप हेतु आवेदन करने तथा बिजली का पैसा बचाने के साथ जलवायु, पर्यावरण बचाने, कृषि यंत्र योजना का लाभ लेने की बात की। . इस मौके पर जनपद के साथ-साथ मंडल भर के अधिकारी गढ़ उपस्थित रहे।

See also  चुनाव परिक्रमा.... वार्ड 74 में बसपा प्रत्याशी ने किया चुनाव जीतने का दावा

See also  जायरीन मेला के लिए हुई शांति कमेटी की बैठक
TAGGED:
Share This Article
Follow:
फैजान खान- संवाददाता दैनिक अग्र भारत समाचार ।
Leave a comment

Leave a Reply

error: AGRABHARAT.COM Copywrite Content.