रिश्ते किये कलंकित : पिता बेटी को बनता रहा अपनी हवस का शिकार

0
759
rape
rape

सिलीगुड़ी। सिलीगुड़ी के भक्तिनगर थाना क्षेत्र के अंतर्गत में मानवता को शर्मसार और पिता-पुत्री के रिश्तों को कलंकित करने का मामला सामने आया है। जहां एक कलयुगी पिता अपनी ही बेटी को हवस का शिकार बना रहा था। शहर के आशीघर आउट पोस्ट स्थित निरंजन नगर इलाके का मामला है। पीड़िता ने अपने पिता के खिलाफ शिकायत दर्ज करायी। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आरोपी पिता को गिरफ्तार कर लिया है। घटना की जानकारी होने पर आरोपी के घर के सामने पहुंच कर आक्रोशित स्थानीय लोगों ने जमा होकर हंगामा किया।


पीड़िता ने बताया कि वह आशीघर आउट पोस्ट के वार्ड नंबर-36 के निरंजन नगर में रहती है। उसने बताया की उसका pita 11 वर्ष की उम्र से ही उसको अपनी हवस का शिकार बना रहा था। इस संबंध में पीड़िता ने रविवार को आशीघर पुलिस आउट पोस्ट में शिकायत भी दर्ज करायी । पीड़िता ने बताया कि उसके पिता ने कई बार जबरन दुष्कर्म किया। विरोध करने पर जान से मारने की धमकी देता था।

पिता के दुराचार से बचने के लिए कर ली शादी
पीड़िता ने बताया कि आरोपी पिता के लगातार दुराचार किये जाने की वजह से ही एक साल पहले उसने शादी कर ली। लेकिन अपने वासना की पूर्ति के लिए पिता ने दो-तीन माह के भीतर ही पति से अलग रहा दिया। इसके बाद भी फिर से गलत काम करने का प्रयास किया।

हवस की खातिर पिता ने बेटी को उसके पति से किया अलग
आरोपी पिता पेशे से टोटो चालक है। पीड़िता की मानें तो पिता शादी के पहले से ही उसके साथ गलत काम करता था। इस दौरान वह गर्भवती भी हुई थी। पीड़िता ने आरोप लगाते हुए कहा कि उसने मेरे गर्भवस्था की जांच भी करायी, उसके बाद भी गर्भ निरोधक दवा का इस्तेमाल कर घटना को अंजाम देता रहा। मुंह खोलने पर पिता जान से मारने की धमकी भी देता था। जब उन्होंने अपने बड़ी बुआ लख्खी दास को घटना की जानकारी दी तो उसने भी भी मुंह बंद रखने की सलाह दी।

इस मामले को लेकर पहले वह भक्तिनगर थाना पहुंची, जहां से आशीघर आउट पोस्ट में जाकर मामले की शिकायत करने को कहा गया. इतना ही नहीं, घटना के बारे में स्थानीय वार्ड पार्षद आलोक भक्त को जानकारी दी गयी. लेकिन पार्षद ने भी कोई सहयोग नहीं किया. वहीं इस मामले को लेकर आलोक भक्त ने कहा कि आरोप बेबुनियाद है.

थाना में शिकायत के बाद पीड़िता संग मारपीट

पीड़िता ने आरोप लगाया कि दो दिनों पहले जब उन्होंने आरोपी पिता, बड़ी बुआ व अन्य परिजनों के खिलाफ आशीघर आउट पोस्ट में मौखिक शिकायत की, तो मारपीट कर उसके पिता, दादा तथा उसके भाई ने उसे घर से बाहर निकाल दिया। वहीं स्थानीय निवासी सानू वैद्य ने बताया कि केवल आरोपी पिता ही नहीं बल्कि, पीड़िता के दादा ने भी किसी जमाने में पीड़िता की मां के साथ ऐसी ही घिनौनी घटना को अंजाम दिया था। उन्होंने इस घटना से जुड़े आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने की मांग की है।

घटना की जाँच करा की जाएगी उचित कार्रवाही : डीसीपी

घटना के बारे में पूछे जाने पर सिलीगुड़ी मेट्रोपोलिटन पुलिस के ईस्ट जोन-1 के डीसीपी नीमा नोर्वों भूटिया ने कहा कि मामला काफी संवेदनशील है। उन्होंने बताया कि इस मामले की पुलिस गंभीरता से जांच कर रही है। आरोपी पिता को कड़ी से कड़ी सजा दिलायी जायेगी। पीड़िता को पुलिस प्रशासन हरसंभव मदद करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here