भाजपा यूपी के इन दिग्गज नेताओं को केंद्र सरकार में बना सकती है मंत्री , सूची में शामिल हैं इनके नाम

भाजपा यूपी के इन दिग्गज नेताओं को केंद्र सरकार में बना सकती है मंत्री

Sumit Garg
2 Min Read

कानपुर। मतगणना के बाद अब तरह-तरह के समीकरण बनाए जा रहे हैं। एक समीकरण है कि कानपुर-बुंदेलखंड क्षेत्र में अब कोई मंत्री पद नहीं बचा है, ऐसे में जो प्रत्याशी जीते हैं उनकी आस बंध गई है। सभी के नामों को लेकर चर्चा शुरू हो चुकी है।

लोकसभा चुनाव में कानपुर बुंदेलखंड क्षेत्र में भाजपा के हाथ से बुंदेलखंड का बड़ा हिस्सा फिसल गया है। इतना ही नहीं केंद्रीय मंत्री भानु प्रताप सिंह वर्मा और साध्वी निरंजन ज्योति भी हार चुकी हैं। ऐसे में उन्नाव के साक्षी महाराज, अकबरपुर के देवेंद्र सिंह भोले, फर्रुखाबाद के मुकेश राजपूत लगातार तीसरी जीत को लेकर चर्चा में हैं।

See also  युवाओं को अपनी पढाई के साथ राष्ट्रहित के कार्यों में बढ़चढ़ कर कार्य करें -प्रो. दामोदर सप्रे

Also Read : Lok Sabha Election 2024: देखिए उन राज्यों की लिस्ट जहां कांग्रेस और बीजेपी दोनों रहे जीरो, नहीं खुल सका खाता

कन्नौज-इटावा बेल्ट में भाजपा को खासा नुकसान हुआ। फर्रुखाबाद सीट ही पार्टी किसी तरह बचा पाई है। यह बिंदु भी मुकेश राजपूत के नाम को मजबूत कर रहा है। वहीं, देवेंद्र सिंह भोले और साक्षी महाराज का नाम भी मंत्री पद के लिए चर्चा में है। इतना ही नहीं झांसी से जीते अनुराग शर्मा भी बुंदेलखंड में अकेले जीतने की वजह से मंत्री पद पाने के लिए गिने जा रहे नामों में आगे हैं।

Also Read : UP : लोकसभा चुनाव में भाजपा का ग्राफ गिरा, प्रदेश अध्यक्ष और उप मुख्यमंत्री के जिले में भी हार मिली

See also  होटल में चल रहा था सेक्स रैकेट, 12 जोड़े गंदा काम करते पकड़े गए

पार्टी नेताओं के मुताबिक, बुंदेलखंड को फिर से मजबूत करने के लिए उन्हें यह जिम्मेदारी सौंपी भी जा सकती है। वहीं, कानपुर सीट से जीते रमेश अवस्थी की ऊपरी स्तर पर पहुंच का अहसास सभी को है। उन्हें अपने चुनाव प्रचार के दौरान ही कई बार भाजपा नेताओं ने भावी मंत्री के रूप में संबोधित किया है।

Also Read : Vivo S19 Pro 5G: शानदार कैमरा और दमदार बैटरी वाला स्मार्टफोन

See also  कासगंज: आकाशीय बिजली गिरने से दो किसानों की मौत
Share This Article
Follow:
प्रभारी-दैनिक अग्रभारत समाचार पत्र (आगरा देहात)
1 Comment

Leave a Reply

error: AGRABHARAT.COM Copywrite Content.