एफआर निरस्त, दुर्घटना में मौत के मामले में अग्रिम विवेचना के आदेश

MD Khan
1 Min Read

आगरा: एसीजेएम 2 बटेशवर कुमार ने लापरवाहीपूर्ण हत्या के मामले में विवेचक द्वारा प्रस्तुत एफआर (फाइनल रिपोर्ट) को निरस्त कर दिया है और थानाध्यक्ष बरहन को अग्रिम विवेचना के आदेश दिए हैं।

मामला

इस मामले में, वादी नन्नू सिंह के बेटे नरेश कुमार की 29 फरवरी 2020 को एक दुर्घटना में मृत्यु हो गई थी। वादी ने अज्ञात वाहन चालक के खिलाफ लापरवाहीपूर्ण हत्या का मामला दर्ज कराया था।

प्रारंभिक जांच

शुरुआती जांच के दौरान, विवेचक को कोई सबूत नहीं मिला और उन्होंने एफआर लगाकर मामले को बंद कर दिया।

अधिवक्ता द्वारा आपत्ति

वादी के अधिवक्ता संजय जिंदल ने एफआर के खिलाफ आपत्ति दर्ज कराई, यह तर्क देते हुए कि उनके पास प्रत्यक्षदर्शियों के बयान हैं जो घटना का समर्थन करते हैं।

See also  वली अल्लाह के घर पर हाजिरी लगाने से होती है दिल्ली मुराद पूरी शाहीन ताज

अदालत का आदेश

अदालत ने वादी के तर्कों पर विचार किया और एफआर को निरस्त कर दिया। अदालत ने थानाध्यक्ष बरहन को निर्देश दिया कि वे मामले की और जांच करें और उचित कार्रवाई करें।

See also  ग्राम प्रधान के हमलावरों की गिरफ्तारी नहीं होने पर बढ़ रहा गुस्सा, प्रधान संगठनों ने किया विरोध प्रदर्शन
Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

error: AGRABHARAT.COM Copywrite Content.