मेरी बेटी को मार डाला, बेबस पिता ने की अधिकारियों से फरियाद

Jagannath Prasad
2 Min Read

प्रदीप यादव

एटा जनपद एटा में बागवाला थाना क्षेत्र के एक गांव में दहेज लोभियों ने शादी के 18 माह ही नव विवाहिता की गला दबाकर हत्या कर दी। जिसे लेकर पीड़ित पिता ने थाने में शिकायत की थी। पुलिस के अभियोग दर्ज न करने पर न्यायालय के आदेश पर प्राथमिकी दर्ज की गई थी। पुलिस को जांच में एक वर्ष का समय लग गया बावजूद इसके अभी भी विवेचना पूरी नहीं की जा सकी है।

जैथरा थाना क्षेत्र के गांव नगला सुमित निवासी राजेंद्र सिंह ने अपनी बेटी की शादी बाग वाला थाना क्षेत्र के गांव खडउआ में की थी। शादी के बाद ससुराली जन अतिरिक्त दहेज के लिए प्रताड़ित करने लगे। जिसकी शिकायत बेटी ने अपने माता-पिता से की। माता-पिता ने कई बार दामाद और परिवार के अन्य सदस्यों को समझने का प्रयास किया मगर बात नहीं बनी।

See also  नागरिकता (संशोधन) अधिनियम (सीएए) पर ,जयवीर चौधरी ने दी प्रतिक्रिया

12 फरवरी 2022 की रात दामाद आकाश, ससुर दयाशंकर ,सास सुनीता देवी, ननद कीर्ति, देवर विकास व मुन्ना लाल ने मिलकर गला दबाकर बेटी की हत्या कर दी थी।

पीड़ित पिता का कहना है कि पहले तो पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज नहीं की। न्यायालय के आदेश पर मुकदमा लिखा गया। पुलिस हत्यारोपियों को बचाने का प्रयास कर रही है। एक वर्ष बीत जाने के बाद भी पुलिस ने अपनी विवेचना रिपोर्ट न्यायालय में दाखिल नहीं की है।

See also  कानपुर में एंटी करप्शन टीम ने रंगे हाथों पकड़ा घूसखोर थाना प्रभारी
Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

error: AGRABHARAT.COM Copywrite Content.