प्लॉट मालिक को मृतक दिखाकर प्लॉट बेचने वाले प्रॉपर्टी डीलर सहित पुलिस ने तीन दबोचे

Sumit Garg
4 Min Read

अग्रभारत,

मथुरा। धर्म नगरी वृंदावन में प्लाट मालिक को मृत दिखाकर फर्जी दस्तावेज तैयार कर धोखाधडी कर बेचे गए प्लाट के अभियोग में वृंदावन पुलिस ने प्रॉपर्टी डीलर सहित तीन लोगो को गिरफ्तार किया है।। वृंदावन में इस तरह की घटना आम बात है इस सख्त कार्यवाही से धोखाधड़ी करने वालो के होश फाख्ता हो गए है। जानकारों का कहना है ईमानदार एसएसपी के कारण ही ये कार्यवाही हो पाई है।
पुलिस सूत्रों के अनुसार प्रॉपर्टी डीलर पुनीत द्विवेदी पुत्र जगमोहन लाल द्विवेदी नि. मकान नं0 6 आनन्द वाटिका थाना वृन्दावन व सुन्दर प्रधान मिलकर प्रापर्टी डीलिंग का काम करते हैं उनके द्वारा चैतन्य बिहार फेस –2 में एक प्लाट देखा जो काफी समय से बन्द पडा था जिसका मालिक दिल्ली मे रहता था जो वर्ष 2020 के बाद से अपना प्लाट / मकान देखने के लिए नही आया था ।

See also  इलाकाई पुलिस की दबंगई से पीड़ितों ने की शिकायत

इस पर हम लोगों की नीयत खराब हुयी कि इस प्लाट को कब्जा करके फर्जी दस्तावेज तैयार करके बेच दिया जाए तो मोटा मुनाफा कमाया जा सकता है इसी प्लानिंग के तहत सुन्दर प्रधान ने अपने बचपन के दोस्त दिलीप कुमार उर्फ डी.के. जो कि वर्तमान में फरीदाबाद में रहकर परचून की दुकान चलाता है से सम्पर्क किया तथा अपने फूफा राजेन्द्र सिंह व फूफा के लडके नरेश नि. प्रतापनगर कालौनी थाना जमुनापार मथुरा को भी अपनी प्लानिंग समझाते हुए सम्मिलित कर लिया तथा सुन्दर व पुनीत के द्वारा उपरोक्त प्लाट के फर्जी दस्तावेज तथा दिलीप कुमार उर्फ डी.के का फर्जी आधार कार्ड व दो गवाहों के फर्जी आधार कार्ड तैयार करके उपरोक्त प्लाट की रजिस्ट्री 13 मार्च 23 को अपने फूफा राजेन्द्र सिंह व उसके लडके नरेश के नाम करके उसको किसी अन्य व्यक्ति को सही दिखाकर मोटी रकम में बेचना चाह रहे थे तभी किसी खरीदने वाले व्यक्ति के द्वारा एमवीडीए के कार्यालय से जानकारी कर दिल्ली में एमवीडीए के द्वारा आवंटित प्लाट के स्वामी श्रीमती पुष्पलता गुप्ता पत्नि मामचन्द नि. 25/39 पटेल नगर वैस्ट नई दिल्ली से सम्पर्क किया तो पुष्पलता के जिन्दा होने पर उसके द्वारा उनको बताया गया कि वृन्दावन में चैतन्य विहार के आपके प्लाट को कुछ व्यक्ति फर्जी तरीके से बेचना चाह रहे हैं। तत्पश्चात श्रीमती पुष्पलता के बेटे/ मुकदमा वादी सुमित गुप्ता द्वारा मथुरा रजिस्ट्री कार्यालय में आकर जानकारी करने पर उसको ज्ञात हुआ कि उसकी मां के नाम से आवंटित प्लाट को उसकी माँ को मृत दिखाकर किसी विशाल गुप्ता नामक व्यक्ति ने उनका फर्जी वारिस (बेटा) बनकर फर्जी दस्तावेज तैयार कर प्लाट की रजिस्ट्री कर दी है। इस फ्रॉड की जानकारी पीड़ित ने एसएसपी श्री पांडेय को दी जिनके आदेश पर तत्काल थाना वृन्दावन पर अभियोग पंजीकृत किया गया।
पुलिस ने इस मामले में रविवार को कान्हा माखन सोसायटी के पास से सुन्दर प्रधान पुत्र नेम सिंह निवासी लोहागढ थाना माँट पुनीत द्विवेदी पुत्र जगमोहन लाल विशाल गुप्ता उर्फ दिलीप कुमार उर्फ डी0के0 पुत्र मामचन्द उर्फ बसन्त लाल मूल निवासी सुक्खनगढ थाना राया को गिरफ्तार किया गया है।
वृन्दावन पुलिस ने इन लोगो से एक प्रिंटर एक कार टाटा सफारी चार मोबाइल फोन आदि बरामद किये है।

See also  तकनीक के सहारे साइबर टटलुओं से निपटेगी पुलिस

See also  सन शाइन सीनियर सेकेंडरी स्कूल ने वार्षिक उत्सव में बच्चों को दिए पुरुस्कार स्वरूप एक लाख रुपए
Share This Article
Follow:
प्रभारी-दैनिक अग्रभारत समाचार पत्र (आगरा देहात)
Leave a comment

Leave a Reply

error: AGRABHARAT.COM Copywrite Content.