डाॅ. जयदीप मल्होत्रा इनसर्ग कीं अध्यक्ष निर्वाचित, 2024-25 में संभालेंगी स्त्री रोग विशेषज्ञों की बड़ी संस्था की कमान

Dharmender Singh Malik
2 Min Read
  • 2019 में आगरा में हुई थी जेनेटिक्स, एस्थेटिक, काॅस्मेटिक गायनेकोलाॅजी पर अंतर्राष्ट्रीय चर्चा
  • चंडीगढ़ में आयोजित दो दिवसीय काॅसगाइनी-23 में आगरा से पांच स्त्री रोग विशेषज्ञ शामिल हुए

आगरा। भारत व दुनिया भर के स्त्री रोग विशेषज्ञों ने 29 से 30 जुलाई 2023 तक चंडीगढ़ के होटल हयात में आयोजित दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन काॅसगाइनी-23 में हिस्सा लेकर स्त्री रोग संबंधी अनेक मुद्दों पर अपने बहुमूल्य विचार साझा किए। आगरा से भी इस सम्मेलन में पांच चिकित्सक शामिल हुए। गौरव की बात है कि आगरा की हीं डाॅ. जयदीप मल्होत्रा को इंडियन सोसायटी आफ एस्थेटिक एंड रीजनरेटिव मेडिसिन (इनसर्ग) का प्रेसीडेंट इलेक्ट चुना गया है।

See also  संयुक्त आबकारी आयुक्त आगरा जोन राजेश मणि त्रिपाठी का आयोजित हुआ सेवानिवृति समारोह

सम्मेलन से लौटने के बाद इनसर्ग कीं प्रेसीडेंट इलेक्ट डाॅ. जयदीप मल्होत्रा ने बताया कि बदलते समय के साथ महिलाओं को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इनमें से कई समस्याओं को काॅस्मेटिक ट्रीटमेंट से ठीक किया जा सकता है। अब महिलाओं के लिए काॅस्मेटिक गायनेकोलाॅजी का नया माध्यम काफी सरल है।

वहीं सम्मेलन में आगरा से शामिल हुए अन्य चिकित्सकों में उजाला सिग्नस रेनबो हॉस्पिटल के निदेशक डाॅ. नरेंद्र मल्होत्रा ने बताया कि जब हम बढ़ती उम्र में महिलाओं की परेशानियों को लेकर बात करते हैं तो तकनीक काफी आगे निकल आई है। जैसे कि फैमिलिफ्ट लेजर सिस्टम एक ऐसी तकनीक है जिससे तीन या चार सिटिंग में कई रोगों को खत्म किया जा सकता है। कोई सर्जरी नहीं, कोई डाउनटाइम नहीं, कोई दवा नहीं, कोई दर्द नहीं। इस तकनीक से आगरा में उजाला सिग्नस रेनबो हाॅस्पिटल और मल्होत्रा नर्सिंग एंड मैटरनिटी होम में महिलाओं की गुप्त समस्याओं का निवारण अब लेजर उपचार द्वारा संभव है।

See also  रामचरितमानस के बारे में अभद्र टिप्पणी करने वाले रावण के वंशज - जय बजरंग सेना

डाॅ. नीहारिका मल्होत्रा ने बताया कि वर्ष 2023 में इनसर्ग का सबसे पहला सम्मेलन आगरा में हुआ था। तब पांच से छह हजार स्त्री रोग विशेषज्ञों ने शिरकत की थी। आगरा से डाॅ. आरती मनोज और डाॅ. अमित टंडन भी इस सम्मेलन में शामिल हुए और उन्होंने अपने व्याख्यान व शोध पत्र प्रस्तुत किए।

See also  आगरा : ट्रैफिक पुलिस कर्मी ने फूलों की दुकान को बनाया रिश्वत के पैसे रखने का अड्डा
Share This Article
Editor in Chief of Agra Bharat Hindi Dainik Newspaper
Leave a comment

Leave a Reply

error: AGRABHARAT.COM Copywrite Content.