मोदी जी का 10 साल का कार्यकाल इस शताब्दी का स्वर्ण युग : प्रो. एसपी सिंह बघेल

आगरा। केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री प्रो. एसपी सिंह बघेल ने लोक सभा में बोलते हुए कहा कि गुप्त काल जैसे भारत का स्वर्ण युग था वैसे ही मोदी जी का यह 10 साल का कार्यकाल इस शताब्दी का स्वर्ण युग है।

Saurabh Sharma
2 Min Read

आगरा। केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री प्रो. एसपी सिंह बघेल ने लोक सभा में बोलते हुए कहा कि गुप्त काल जैसे भारत का स्वर्ण युग था वैसे ही मोदी जी का यह 10 साल का कार्यकाल इस शताब्दी का स्वर्ण युग है।

उन्होंने कहा कि देश के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है कि कोई प्रधानमंत्री अपनी मंत्रिमंडल के साथ लुटयन जोन में 10 साल से रह रहे है और ना ही उनके कपड़े पर कोई कालिख आई और ना ही चेहरे पर। साथ ही उन्होंने बताया कि कैसे उनकी पैदाइश से पहले कृष्णा मेनन का जीप घोटाला हो गया था।  जवानी के दिनों में बोफोर्स हुआ था और एमपी होते ही 2जी, 3जी कोयला और कॉमनवेल्थ हो गया था। “प्रधानमंत्री जी 10 साल कोठरी में रहे और कालिख ना लगे ऐसा कोई फकीर ही कर सकता है कोई हरफनमौला कर सकता है। कोई साधु संत कर सकता है कोई परमहंस कर सकता है”।

See also  Mathura : जिले में 126 केंद्रों पर शुरू हुईं यूपी बोर्ड की परीक्षा

प्रोफेसर एसपी सिंह बघेल ने कहा कि डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (DBT) के माध्यम से आज देश में पैसा सीधा किसानों के खातों में पहुँच रहा है। यह सिर्फ मोदीजी के कारण ही संभव हो पाया है। वरना पहले तो 85 पैसे गायब हो जाते थे। 15 पैसे ही लोगो तक पहुँच पाते थे । सरकार 5 किलो राशन इसलिए दे रही है क्योंकि लोगों ने सिर्फ गरीबी हटाओ के नारे दिए गरीबी नहीं हटाई। गरीबी हटाने का काम मोदीजी कर रहे हैंI इज्जत घर बनाने का फैसला मील का पत्थर साबित हुआ है इससे अपराध में कमी आई है।

आयुष्मान योजना देश की पहली स्वास्थ्य योजना है जो सभी को इलाज मुहैया करा रही हैI नैनो यूरिया ने किसानों की उपज को बढ़ाया है साथ ही उर्वरक की कीमत को भी कम किया है। नैनो यूरिया दूसरी अघोषित हरित क्रांति का कारण है। मोदीजी के कार्यकाल में हर क्षेत्र में काम हुआ है। 2047 में जब देश शताब्दी वर्ष मना रहा होगा उस समय देश विकसित भारत बन चुका होगा।

See also  "ईवीएम हटाओ" का नारा लगाकर फैला रहा था भ्रम, अब खुद फँसा जेल में!

See also  जन चौपाल में हुआ जनता से संवाद
Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

error: AGRABHARAT.COM Copywrite Content.