स्मिथ ने IPL-शैली बदलाव की मांग की: क्या SA20 चुनौती से उबर सकता है?

Rajesh kumar
2 Min Read

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान ग्रीम स्मिथ चाहते हैं कि एसए 20 लीग आईपीएल जितनी सफल हो। स्मिथ का मानना ​​है कि एसए 20 युवा खिलाड़ियों को राष्ट्रीय टीम के लिए तैयार करने में मदद कर सकता है। उन्होंने यशस्वी जायसवाल और शुभमन गिल जैसे युवा खिलाड़ियों की प्रतिभा की प्रशंसा की। स्मिथ का मानना ​​है कि टी20 क्रिकेट खेल के विकास और उसे आर्थिक रूप से मजबूत बनाने के लिए आवश्यक है।
उन्होंने कहा कि राजस्व साझाकरण का मॉडल सभी देशों को टेस्ट क्रिकेट खेलने के लिए प्रोत्साहित करेगा।

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान ग्रीम स्मिथ ने कहा है कि वह चाहते हैं कि एसए 20 लीग आईपीएल जितनी सफल हो। स्मिथ का मानना ​​है कि एसए 20 युवा खिलाड़ियों को राष्ट्रीय टीम के लिए तैयार करने में मदद कर सकता है, जैसा कि आईपीएल ने भारत के लिए किया है।

See also  भारत की शानदार जीत, ऑस्ट्रेलिया को बीस रन से हराया, भारत ने T20 सीरीज जीता

स्मिथ इंग्लैंड के खिलाफ यशस्वी जायसवाल और शुभमन गिल जैसे युवा खिलाड़ियों के प्रदर्शन से बहुत प्रभावित दिखे। उन्होंने कहा कि इन खिलाड़ियों की प्रतिभा आईपीएल से निखरी थी, और अब वे टेस्ट क्रिकेट में भी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं।

स्मिथ का मानना ​​है कि टी20 क्रिकेट खेल के विकास और उसे आर्थिक रूप से मजबूत बनाने के लिए आवश्यक है। उन्होंने कहा कि टेस्ट क्रिकेट उनकी पसंदीदा प्रारूप है, लेकिन टी20 क्रिकेट खेल को नए दर्शक, नए खिलाड़ी और नए बाजार प्रदान कर रहा है।

हालांकि, स्मिथ दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट टीम के टेस्ट क्रिकेट में खराब प्रदर्शन से निराश हैं। उन्होंने कहा कि टीम में अच्छे खिलाड़ी हैं, लेकिन किसी का भी औसत 40 से ऊपर नहीं है। उन्होंने कहा कि उनके समय में छह खिलाड़ी ऐसे थे जिनका औसत 50 से ऊपर था।

See also  30 सितंबर, 2023 का राशिफल

स्मिथ का मानना ​​है कि टेस्ट क्रिकेट के सामने सबसे बड़ी चुनौती वित्तीय मॉडल है। उन्होंने कहा कि हर कोई शेड्यूल की बात करता है, लेकिन असल समस्या वित्तीय मॉडल है। उन्होंने कहा कि राजस्व साझाकरण का मॉडल सभी देशों को टेस्ट क्रिकेट खेलने के लिए प्रोत्साहित करेगा।

See also  क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर का 50वां जन्मदिन
Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

error: AGRABHARAT.COM Copywrite Content.