बहू बनी शिकार, ससुराल बनी आग का दरिया: तीन को कठोर सजा!

MD Khan
2 Min Read

आगरा: अपर जिला जज 11 नीरज कुमार बक्सी ने हत्या के प्रयास और अन्य आरोपों में तीन लोगों को दोषी ठहराते हुए उन्हें 5 साल की कैद और 15 हजार रुपये के जुर्माने की सजा सुनाई है।

दोषियों की पहचान राजपाल, भरत सिंह और सोनू के रूप में हुई है। ये सभी आगरा के थाना ताजगंज के गांव बुढ़ाना के निवासी हैं।

मामले के अनुसार, वादी मुकदमा राम प्रताप सिंह की बहन श्रीमती हरदेवी की शादी घटना से करीब दो साल पहले आरोपी राजपाल सिंह से हुई थी। वादी का आरोप है कि दहेज से संतुष्ट नहीं होने के कारण आरोपी पति और अन्य ससुरालीजनों द्वारा वादी की बहन को उत्पीड़ित किया जाता था।

See also  जिला न्यायाधीश ने स्वच्छता अभियान को दिखाई हरी झंडी

मांग पूरी करने में असमर्थता जताने पर आरोपियों ने जान से मारने की नीयत से वादी की बहन को गंभीर रूप से जला दिया। समय पर चिकित्सा उपलब्ध होने के कारण वादी की बहन की जान तो बच गई, लेकिन अत्यधिक जलने के कारण उसका जीवन नर्क बन गया।

पुलिस ने वादी की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर आरोपी पति राजपाल सिंह, जेठ भरत सिंह और भतीजे सोनू के खिलाफ दहेज उत्पीड़न, मारपीट और हत्या के प्रयास के आरोप में अदालत में आरोप पत्र पेश किया था।

अभियोजन पक्ष की ओर से एडीजीसी नाहर सिंह तोमर ने वादी मुकदमा सहित चार गवाह अदालत में पेश किए।

See also  आगरा में एआईएमआईएम का सदस्यता अभियान जारी, युवाओं में खासा उत्साह

मुकदमे के विचारण के बाद अपर जिला जज 11 नीरज कुमार बक्सी ने आरोपियों को दोषी ठहराते हुए 5 साल की कैद और 15 हजार रुपये के जुर्माने की सजा सुनाई।

See also  तीन लाख की स्मैके तस्करी के आरोप में दो पकडे, एक युवक 740 गांजे के साथ गिरफ्तार
Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

error: AGRABHARAT.COM Copywrite Content.