पाकिस्तान चुनाव से पहले धमाकों से दहशत, 22 से अधिक मरे, दर्जनों घायल

admin
2 Min Read
पाकिस्तान के राष्ट्रीय चुनावों की पूर्व संध्या पर, 7 फरवरी, 2024 को, क्वेटा से लगभग 50 किलोमीटर (30 मील) दूर पिश्शिन जिले में एक स्वतंत्र उम्मीदवार के कार्यालय के बाहर हुए बम विस्फोट स्थल का सुरक्षाकर्मी निरीक्षण करते हुए । (एएफपी)

पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में चुनाव से ठीक पहले हुए दो धमाकों में कम से कम 22 लोगों की मौत और दो दर्जन से अधिक के घायल होने की खबर है। इन हमलों ने पूरे देश में अशांति फैला दी है और आगामी चुनावों की स्वतंत्रता और निष्पक्षता को लेकर गंभीर चिंताएं पैदा कर दी हैं।

प्रांतीय सरकार के अधिकारियों के अनुसार, पहला हमला पीशिन जिले में एक स्वतंत्र चुनाव उम्मीदवार के कार्यालय में हुआ, जिसमें 14 लोग मारे गए। इसके बाद, अफगान सीमा के निकट किला सैफुल्लाह में हुए दूसरे विस्फोट में जमीयत उलेमा इस्लाम (JUI) के कार्यालय को निशाना बनाया गया। यह धार्मिक पार्टी अक्सर उग्रवादी हमलों का शिकार होती है। अधिकारियों के अनुसार, इसमें कम से कम 10 लोगों की मौत हुई है।

See also  दुनिया का सबसे बड़ा स्कैम: बैंक को लगाया 242 मिलियन डॉलर का चूना

अभी तक किसी भी समूह ने इन हमलों की जिम्मेदारी नहीं ली है, लेकिन संदेह है कि बलूच राष्ट्रवादियों या अन्य उग्रवादी समूहों का इनमें हाथ हो सकता है।

बलूचिस्तान का अशांत इतिहास

बलूचिस्तान, जो अफगानिस्तान और ईरान की सीमा से लगता है, दो दशक से अधिक समय से बलूच राष्ट्रवादियों के विद्रोह का सामना कर रहा है। यह विद्रोह शुरू में संसाधन-साझा मांगों से प्रेरित था, लेकिन बाद में स्वतंत्रता की मांग में बदल गया। इसके अलावा, पाकिस्तानी तालिबान और अन्य उग्रवादी समूह भी इस क्षेत्र में काफी सक्रिय हैं।

चुनावों पर संकट के बादल

0 4 7 पाकिस्तान चुनाव से पहले धमाकों से दहशत, 22 से अधिक मरे, दर्जनों घायल

ये हिंसक घटनाएं आगामी चुनावों पर काले बादल छा रही हैं। विपक्षी दल और मानवाधिकार कार्यकर्ता पहले से ही सरकार पर चुनावों को प्रभावित करने का आरोप लगा रहे हैं।

See also  कंजूसी की हद: सेकेंड हैंड अंडरवियर पहनती है महिला, 20 साल से नहीं खरीदे नए कपड़े, नहीं है रुपए की कोई कमी

4 4 2 पाकिस्तान चुनाव से पहले धमाकों से दहशत, 22 से अधिक मरे, दर्जनों घायल

ऐसे में इन हमलों से चुनाव की स्वतंत्रता और निष्पक्षता को लेकर और भी ज्यादा शंकाएं खड़ी हो गई हैं।

अंतरराष्ट्रीय समुदाय की चिंता

अंतरराष्ट्रीय समुदाय भी पाकिस्तान में हो रहे इन घटनाक्रमों पर चिंता जता रहा है और उम्मीद करता है कि ये चुनाव शांतिपूर्ण और लोकतांत्रिक तरीके से संपन्न होंगे।

See also  चंद्रयान-1 ने दी सटीक जानकारी, पृथ्वी से ही पहुंचा था चंद्रमा पर पानी
Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

error: AGRABHARAT.COM Copywrite Content.