किसानों से दगा या राजनीतिक चाल?, जयंत चौधरी के इस कदम पर मचा बवाल, क्या किसानों को छोड़ मोदी से हाथ मिला लेंगे चौधरी? अखिलेश यादव ने दी चेतावनी

Saurabh Sharma
2 Min Read

लखनऊ: राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) और समाजवादी पार्टी (सपा) के गठबंधन में दरार की खबरों के बीच, रालोद नेता जयंत चौधरी के भाजपा में शामिल होने की अटकलें तेज हो गई हैं। इन अटकलों पर प्रतिक्रिया देते हुए सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा है कि जयंत चौधरी एक पढ़े-लिखे और समझदार व्यक्ति हैं, और उन्हें उम्मीद है कि वे किसानों की लड़ाई को कमजोर नहीं होने देंगे।

गौरतलब है कि पिछले कुछ दिनों से कई मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि जयंत चौधरी भाजपा में शामिल हो सकते हैं। रालोद पश्चिमी उत्तर प्रदेश में एक प्रभावशाली राजनीतिक दल है, और जयंत चौधरी इस क्षेत्र में एक लोकप्रिय नेता हैं।

See also  UP: उन्नाव में राहुल गांधी का भारत जोड़ो न्याय यात्रा का भव्य स्वागत

अखिलेश यादव ने कहा, “जयंत चौधरी एक पढ़े-लिखे और समझदार व्यक्ति हैं। वे सियासत को अच्छी तरह से समझते हैं। मुझे उम्मीद है कि वे किसानों की लड़ाई को कमजोर नहीं होने देंगे।”

इससे पहले, सपा के राष्ट्रीय महासचिव शिवपाल यादव ने भी जयंत चौधरी के भाजपा में शामिल होने की संभावना को खारिज कर दिया था। उन्होंने कहा था कि जयंत चौधरी एक धर्मनिरपेक्ष राजनीतिक व्यक्ति हैं, और वे भाजपा जैसी पार्टी में शामिल नहीं होंगे।

हालांकि, जयंत चौधरी ने अभी तक इन अटकलों पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

यह देखना दिलचस्प होगा कि जयंत चौधरी आखिरकार क्या फैसला लेते हैं। यदि वे भाजपा में शामिल होते हैं, तो यह सपा के लिए एक बड़ा झटका होगा, और 2024 के लोकसभा चुनावों में गठबंधन की संभावनाओं को कमजोर कर सकता है।

See also  क्या टूटकर बिखर जाएगी SP? एक और बड़े नेता का इस्तीफा!

See also  Agra News: समाजवादी बाबा साहब अम्बेडकर वाहिनी से इकबाल अल्वी को बनाया गया आगरा महानगर अध्यक्ष
Share This Article
2 Comments
error: AGRABHARAT.COM Copywrite Content.